Design a site like this with WordPress.com
प्रारंभ करें

“मेरी उम्मीद क़ी ओर” पुस्तक विमोचन

“मेरी उम्मीद क़ी ओर” पुस्तक का विमोचन 26 मार्च को हुआ । मेरी दूसरी कविताओं क़ी पुस्तक । पुस्तक अमेज़न और फ्लिपकार्ट दोनो जगहों पर उपलब्ध हैं 🌺🌺

ख्यालों को . . .

ख्यालों को शायद मैं बहुत पसंद हूँ,हमेशा मेरे आसपास मंडराती रहती है,मुस्कुराहटों को शायद मेरे मुखमंडल भाते है,हमेशा मेरे ओठों पर इठलाती नृत्य करती है,आँखो को शायद शतदल की रंगत भाते है,हमेशा बस उसी को देखते रहना चाहते है. . . – छाया

विश्वास . . .

विश्वास एक फूल है,जो सबके दिलों में सबके लिये,अलग- अलग रंगों में खिलते है,कहीं कम कहीं ज्यादा कहीं विलुप्त,हमारा प्रेम इस रंग को चटक करता है,प्रेम के आभाव में कुम्हला से जाते है. . . – छाया